कृषि, 2047 तक देश को ‘विकसित भारत’ बनाने में निभाएगी अग्रणी भूमिका

टॉपिक :– प्री जीएस पेपर 1 और मैंस पेपर 3 ( कृषि )

चर्चा में क्यों :– केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण, वाणिज्य और उद्योग तथा वस्त्र मंत्री श्री पीयूष गोयल ने ‘‘कृषि और ‘विकसित भारत’’ नाम से एक रिपोर्ट प्रकाशित की ।

महत्वपूर्ण बिंदु:– 

कृषि 2047 तक देश को ‘विकसित भारत’ बनाने में अग्रणी भूमिका निभाएगीकिसानों की भंडारण सुविधा को आसान बनाने के लिए ‘ई-किसान उपज निधि’ का शुभारंभ 

डब्लूडीआरए ( Warehousing Development and Regulatory Authority ) पंजीकृत गोदामों पर सुरक्षा जमा शुल्क जल्द ही 3 प्रतिशत से घटाकर 1 प्रतिशत किया जाएगा

‘ई-किसान उपज निधि’ किसानों द्वारा संकट के समय में उनकी उपज की कम कीमत पर होने वाली बिक्री को रोकेगी

लक्ष्य :–  किसानों की आय दुगनी करना और 2047 तक ‘विकसित भारत’ का लक्ष्य प्राप्त करना ।

‘ई-किसान उपज निधि’ पहल के लाभ :–

1. प्रौद्योगिकी की सहायता से किसानों की भंडारण व्यवस्था सुगम हो जाएगी 

2. किसानों को उनकी उपज के लिए उचित मूल्य प्राप्त करने में सहायता मिलेगी।

डब्ल्यूडीआरए पंजीकृत गोदाम ( Warehousing Development and Regulatory Authority ):–

ज्यादा किसानों, विशेषकर छोटे किसानों को गोदामों का उपयोग करने और उनकी आय बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए डब्ल्यूडीआरए पंजीकृत गोदामों पर सुरक्षा जमा शुल्क को  जल्द ही 3% से  कम कर के 1%  किया जाएगा। 

गोदामों में किसानों को पहले अपनी उपज का भंडारण करने के लिए 3 प्रतिशत सुरक्षा जमा राशि का भुगतान करना पड़ता था, अब केवल 1 प्रतिशत सुरक्षा जमा राशि के भुगतान करने की आवश्यकता होगी।

”ई-किसान उपज निधि” प्लेटफॉर्म :– 

यह  पहल किसानों के लिए किसी भी पंजीकृत  ‘ई-किसान उपज निधि’ और ई-एनएएम के साथ, किसान एक इंटरकनेक्टिड मार्केट की प्रौद्योगिकी का उपयोग करने में सक्षम होंगे, जो उन्हें न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर या उससे ज्यादा दाम पर अपनी उपज को सरकार को बेचने का फायदा पहुंचाती है।

पिछले दशक में एमएसपी के जरिए सरकारी खरीद 2.5 गुना बढ़ी ।

किसानों की आय में सुधार के लिए किए जा रहे अन्य सुधार :–

पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) के द्वारा किसानों को  पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi) प्रदान की  जा रही है

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (Pradhan Mantri Fasal Beema Yojana) के ज़रिए फसल सुरक्षा कवच (Fasal Suraksha Kavach) का लाभ किसानों को दिया जा रहा है। 

ई-किसान उपज निधि योजना (E-kisaan Upaj Nidhi :– 

किसान अपनी फसल (  उपज ) को गोदाम में रखकर,  कम ब्याज दरों पर लोन प्राप्त कर सकते है । और जब  उपज का उचित मूल्य मिलने लगे तो उसको। बेच कर  पर लोन की रकम को चुका सकेंगे।

Spread the love

1 thought on “कृषि, 2047 तक देश को ‘विकसित भारत’ बनाने में निभाएगी अग्रणी भूमिका”

  1. Sunil Verma sir aapki vajah se hi mujhe monthly magazine mangane ki jarurat nahi PADI
    THAKNS SUNIL SIR AND PURI TEAM’KI

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top