खाड़ी सहयोग परिषद (GCC)

चर्चा में क्यों :–

खाड़ी सहयोग परिषद (GCC) ने किया अपना   ‘क्षेत्रीय सुरक्षा विज़न’ प्रस्तुत। इस  विज़न  को दिसंबर 2023 में अपनाया गया ।

खाड़ी सह‌योग परिषद (GCC) :–

 इसकी स्थापना वर्ष 1981 में की गई थी। इसमें कुल 6 सदस्य देश है  । सदस्य देश :– संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन, ओमान, सऊदी अरब, कतर और कुवैत) ।

*इस संगठन का एक प्रमुख उद्देश्य सभी सदस्य देशों को एक मंच प्रदान करना जिससे यह सदस्य देश सभी क्षेत्रों में एक साथ समन्वय बनाकर कार्य कर सके। इस संगठन की सबसे महत्वपूर्ण संस्था सभी सदस्य देशों के राष्ट्रीय प्रमुखों से बनती है जो सर्वोच्च परिषद होती है।

*इसके बाद एक मंत्रिपरिषद स्टार्ट की परिषद होती है जिसमे  सभी सदस्य राष्ट्रों के विदेश मंत्री शामिल होते है।

यह परिषद  क्षेत्रीय सुरक्षा पर विशेष ध्यान रखते हुए  इससे जुड़े एक फ्रेमवर्क को अपनाती है  जिसने हिंसा, असहमति और संघर्ष को दूर करने के लिए विशेष उपबंध किए गए है।

परिषद के क्षेत्रीय सुरक्षा से जुड़े विज़न के मुख्य प्रावधान इस प्रकार है :–

1.सदस्य देश जहां एक और विकास के मुद्दे पर एक दूसरे का सहयोग करेंगे तो वहीं दूसरी तरफ एक दूसरे की संप्रभुता और अखंडता का भी ध्यान रखेंगे।

2. इस संगठन के सभी सदस्य देश एक दूसरे की सुरक्षा का भी ध्यान रखेंगे इसके तहत  यदि  संगठन के किसी भी एक सदस्य को  कोई  खतरा उत्पन्न होता है, तो उसे सभी परिषद् के सभी सदस्यों के लिए खतरा माना जाएगा।

3. सदस्य देशों के बीच किसी भी प्रकार का मतभेद या विवाद होने पर उसे सुलझाने के लिए बल का प्रयोग नहीं किया जाएगा और यह सभी विवाद के मुद्दे चर्चा और संवाद के माध्यम से ही सुलझाए जाएंगे।

4.सदस्य देश अपने मतभेदों को सुलझाने के लिए बल प्रयोग से बचने तथा चर्चा और संवाद को प्राथमिकता देने हेतु संयुक्त प्रयासों पर बल देंगे।

5.सदस्य देश अपने नियंत्रण के संपूर्ण क्षेत्र को सामूहिक विनाशकारी हथियारों से मुक्त बना कर रखेंगे साथ ही परमाणु अप्रसार पर अंतर्राष्ट्रीय और क्षेत्रीय प्रयासों का समर्थन करेंगे।

6. कोई सदस्य देश किसी भी प्रकार के अमानवीय कृत्य का समर्थम नहीं करेगा और न ही आतंकवाद, उग्रवाद और मनी लॉन्ड्रिंग जैसी किसी भी गतिविधि को बढावा देगा।

7. सभी  सदस्य देश जल व खाद्य सुरक्षा, ऊर्जा सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन, आर्थिक संसाधनों की रक्षा एवं निवेश जैसे मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करेंगे।

8.फिलिस्तीनी मुद्दे के उचित समाधान के रूप  द्वि-राष्ट्र (2-state) समाधान का समर्थन ।

प्रश्न. निम्नलिखित में से कौन ‘खाड़ी सहयोग परिषद’ का सदस्य नहीं है? (2016)

(a) ईरान

(b) ओमान

(c) सऊदी अरब

(d) कुवैत

उत्तर: (a)

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top